कहाँ जख्म खोल बैठा प…

कहाँ जख्म खोल बैठा पगले,

ये नमक का शहर है ……!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *