यूँ तो गिला नही मुझे…

यूँ तो गिला नही मुझे तेरे किसी फैंसले से ऐ ख़ुदा…

…पर

तरबूज मे इतने बीज न भी सैट करता तो तेरा क्या जाता…!!!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *