हजारों अश्क़ मेरी आँख…

हजारों अश्क़ मेरी आँखों
की हिरासत में थे
फिर तेरी याद आई और
इन्हें जमानत मिल गई

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *