धब्बे

साफ़ दामन का दौर तो कब का खत्म हुआ साहब..,
अब तो लोग अपने धब्बों पे गरूर करने लगे हैं..!!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *