कभी लिपट जाया करती थ…

कभी लिपट जाया करती थी जो बादलों के गरजने पर,

वो आज बादलों से भी ज्यादा गरजती है !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *