ख्वाब

वो सोचते हैं हम उनको भूल गए हैं…..
क्या बताएं उनको….
हम तो आज भी रोज़ ख्वाबों में उन्ही से मिला करते हैं…..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *