फितरत किसी की ना आजम…

फितरत किसी की
ना आजमाया कर ऐ जिंदगी।

हर शख्स अपनी हद में
बेहद लाजवाब होता है..।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *