मेरी ख्वाहिशें बहुत …

मेरी ख्वाहिशें बहुत बड़ी हों शायद….
पर ख़ुशियों के लिए तुम काफ़ी हो..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *