चूम लेती हैं लटक कर,…

चूम लेती हैं लटक कर, कभी चेहरा कभी लब,
सुनो जाना, तुमने जुल्फों को बहुत सर पर चढ़ा रखा है||

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *