कुछ तो खासियत है, मे…

कुछ तो खासियत है,
मेरे वोट में,

देता हूँ फकीरों को,
कमबख्त शहंशाह
बन जाते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *