Dekh na sake

सूरत हमारी देख ली उन्होने, दिल हमारा देख ना सके..
खुशी हमारी देख ली उन्होने, गम हमारा देख ना सके..
प्यार हमसे कर लिया उन्होने, कदर हमारी कर ना सके..
हँसी हमारी देख ली उन्होने, आँसु हमारे देख ना सके..
बेवफा हमें कहने लगे वो, चाहत हमारी देख ना सके..
ख्वाब समझ कर भूल गये हमें, महोब्बत हमारी देख ना सके..

Najriya

बेशक हम बुरे से बुरे लाख सही, मगर तुमहे चाहा सच्चे दिल से…

ये बात और होगी कि हमारा नजरिया कुछ और लगा आपको

Hisab

मत दिखाओ हमें तुम, ये मुहब्बत का बही खाता,

हिसाब-ए-इश्क़ रखना, हम दीवानों को नहीं आता.