होली के रंगों जैसे …

होली के रंगों जैसे

होली के रंगों जैसे रंग बिरंगे मेरे दोस्त,
सब के है अलग अलग रंग पर ना चढ़ा किसी पे बदलतीं दुनिया का रंग ! आज भी निभातें है
हम दोस्ती दिलो जान से क्योंकि हमपर ना चढ़ा है रंग बेईमानी धोखेबाज़ी का!

शालिनी तंवर रघुवंशी

Winter Breeze

Winter breeze, so briskly blowing
In my yard the snowman’s growing.
If you’re cold and getting thinner
You must try Grandma’s Christmas dinner!