husafar

दिल को समझाने के लिए ये ख्याल अच्छा है
की राह मे थोडी देर साथ चलो
ना जाने कब घिर के आ जाये ये गमो के साये
की कुछ पल हमसफर मान लो हमे ये ख्याल अच्छा है
बिती हूई रात का किस्सा करगें याद और तमाम् उमर बित जयेगी
उस एक रात के सहारे
ये पल हमे दे दो की दिल को समझाने के लिए ये ख्याल अच्छा है

judai

जुदा होकार क्या तबदिल हुआ है मुजमे तुम्हे क्या बता साकी
की खूद की काबिलियत को पेहचान पया हु
में
वो जो कहि दफन था जनून मेरे अंदर उसे निकाल पाया हु
शुक्रिया कहना था तुम्हे की जिंदगी में आज जगह ली हैं उस जनून ने
जिसके ख्वाब देखे थे तेरे आने से पहले

Shrabi

जब जीते थे तब हस्ते थे
अब हर रोज मरते हैं तो पीते है

एक उम्र गुजारी थी उसकी जुल्फों की छाव में
अब तो उम्र गुजरती है शराब में

कह लेने दो लोगो को शराबी हमे
क्या फर्क पड़ता हैं जिंदा लाशों को