जीवन

निंदा तो उनका ही होता है जो जिंदा रहते हैं |

मरने के बाद तो लोग तारीफ करते है |