मैं भी शायर ??

तुम सींग मारती गईया सी
मैं कोने में दुबका बैल प्रिये,

मैं सीधा सा पीपल का पेड़ हूँ,
तुम उस पर लटकी चुड़ैल प्रिये..!!
????

कत्ल

रै मुक़दमा करूं भी तो किस पे
मेरा कत्ल मेरे अपनों ने ही किया है