सत्य वचन हम जब दि…

सत्य वचन
हम जब दिन की शुरुआत करते हैं,
तब लगता है कि, पैसा ही जीवन है…
लेकिन
जब शाम को लौट कर घर आते हैं,
तब लगता है, शान्ति ही जीवन है…!!

पिता के बिना घर क्य…

पिता के बिना घर क्या है?
इसका अनुभव करना हो तो
सिर्फ एक दिन…
अंगूठे के बिना
सिर्फ उंगलियों से अपने
सारे काम करके देखें…
पिता की कीमत पता
चल जायेगी…?

जीवन में कभी किसी स…

जीवन में कभी
किसी से अपनी
तुलना मत करो,
आप जैसे हैं,
सर्वश्रेष्ठ हैं….
ईश्वर की हर रचना
अपने आप में सर्वोत्तम है,
अदभुत है…!

ज्यादा कुछ नहीं बदला…

ज्यादा कुछ नहीं बदला जिंदगी में…
बस बटुए थोड़े भारी…
और
रिश्ते थोड़े हलके हो गए…

आज की सच्चाई तो यह है कि
फेसबुक या व्हाटस अप्प पर
500 से ज्यादा फ्रेंडस है!

और असल ज़िंदगी में…
पड़ोसी से भी बोलचाल बंद है।

सबकी पत्नियों को समर्पित

अगर पत्नी न मिलती तो
कभी यकीन नहीं होता कि…

अजनबी लोग भी अपनों से
ज्यादा प्यारे हो सकते हैं ।

   लोग कहते हैं ...

“हाथों की लकीरें अधूरी हों तो
किस्मत में पत्नि नहीं होती”

लेकिन मैं कहता हूँ कि…

“हाथों में पत्नि का हाथ हो तो
लकीरों की भी जरूरत नहीं होती”