##CORONAvirus

फरमान आया हैं कि घर में रहना हैं
अपनो के साथ अपने शहर में रहना हैं
मत मिलो किसी से सबसे यह कहना जरूरी हैं
तुम्हारा मिलना नहीं तुम्हारा रहना जरूरी है।

खाली किताब

खाली पन्नो की किताब है बताओ क्या लिखोगे,
जो लिखोगे तो क्या तुम भी उसे पढ़ोगे।

लिखो तो जरा कलम को संभालना मेरे दोस्त,
नही तो सोचो क्या लिखोगे और क्या पढ़ोगे।

एक सफ़र

चेहरे पे ख़ुशी और दिल में कुछ अरमान रख लो,

सफ़र लंबा है जिंदगी का ,
कुछ जरुरी सामान रख लो।

नादान लड़के

जान कहने से जान नहीं होती है
लड़कियां नादान नहीं होती है
ये तो बस यूँ ही गुमराह करती हैं
इनकी हँसी के पीछे मुस्कान नही होती है।

किसी की चाहत

मेरे पास तेरी तस्वीर भी नही है
और तेरी ऐसी तकदीर भी नही हैं

जो तू खयाल रखती हैं मुझे पाने का,
मगर अफ़सोस तेरे हाथों में मेरी लखीर भी नही हैं।

meri tanhaai

जमाने की इस वाहवाही से डर लगता हैं
उजाले में अपनी ही परछाई से डर लगता हैं

खुश तो मैं भी हूँ आज यहाँ पहुँचकर
लेकिन तनहा हूँ औऱ इसी तन्हाई से डर लगता हैं।

sad

जब चाहा जज्बातों से खेला जब चाहा दिल तोड़ दिया हमने भी ऐसे लोगों से मिलना-जुलना छोड़ दिया ।

miss u

पल पल तरसे जिस पल के लिए
वो पल भी आया तो कुछ पल के लिए,
सोचा उस पल को रोक लू हर पल के लिए
लेकिन वो पल न रुका एक पल के लिए ।